You are here: Homeखेल

एक बेहद प्रतिभाशाली युवा से विश्व स्तरीय बल्लेबाज तक विराट कोहली की तरक्की में राजकुमार शर्मा का योगदान किसी से छिपा नहीं है और 2014 में शिक्षक दिवस पर इस ‘शिष्य’ ने अपने सख्त कोच को इतना भावुक कर दिया कि उसे वह कभी नहीं भुला सकेंगे.

अनुभवी खेल पत्रकार विजय लोकपल्ली की किताब ‘ड्रिवन’ में इस घटना का जिक्र किया गया है. लेखक ने कहा, 'मैने एक दिन घंटी बजने पर दरवाजा खोला तो सामने विकास (विराट कोहली का भाई) खड़ा था. इतनी सुबह उसके भाई के आने से मुझे चिंता होने लगी. विकास घर के भीतर आया और एक नंबर लगाया और फिर फोन मुझे दे दिया. दूसरी ओर विराट फोन पर था जिसने कहा, हैप्पी टीचर्स डे सर.' इसके बाद विकास ने राजकुमार की हथेली पर चाबियों का एक गुच्छा रखा.

इसमें कहा गया, 'राजकुमार हतप्रभ देखते रहे. विकास ने उन्हें घर से बाहर आने को कहा. दरवाजे पर एक स्कोडा रैपिड रखी थी जो विराट ने अपने गुरु को उपहार में दी थी.' राजकुमार ने कहा, 'बात सिर्फ यह नहीं थी कि विराट ने मुझे तोहफे में कार दी थी बल्कि पूरी प्रक्रिया में उसके जज्बात जुड़े थे और मुझे लगा कि हमारा रिश्ता कितना गहरा है और उसके जीवन में गुरू की भूमिका कितनी अहम है. वरिष्ठ खेल पत्रकार विजय लोकपल्ली की इस किताब में विराट के जीवन से जुड़ी मजेदार घटनाओं का भी जिक्र है. विराट को भले ही लगता हो कि नाम में क्या रखा है. लेकिन दूसरों को शायद ऐसा नहीं लगता.

युवराज सिंह ने अपनी किताब ‘टेस्ट आफ माय लाइफ’ में लिखा था कि उन्हें लगता था कि विराट काेहली को ‘चीकू निकनेम मशहूर कामिक किताब ‘चंपक’ से मिला जिसमें इस नाम का एक चरित्र है. भारतीय टेस्ट कप्तान ने हालांकि इसका खुलासा किया कि उन्हें यह निकनेम फल से मिला है. दिल्ली की टीम मुंबई में रणजी मैच खेल रही थी. 'विराट ने उस समय तक कुल 10 प्रथम श्रेणी मैच भी नहीं खेले थे. वह उस टीम में थे जिसमें वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, रजत भाटिया और मिथुन मन्हास शामिल थे. उनके साथ ड्रेसिंग रूम में रहकर वह काफी खुश थे.' उन्होंने लिखा, 'एक शाम को वह बाल कटाकर होटल लौटा. उसने पास ही में नया हेयर सैलून देखा और वहां से बाल कटाकर नये लुक में आया.

उसने पूछा कि यह कैसा लग रहा है तो सहायक कोच अजित चौधरी ने कहा कि तुम चीकू लग रहे हो.' तभी से उनका नाम चीकू पड़ गया और उन्हें बुरा भी नहीं लगता.

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने सोमवार को कहा कि 1996 के दौरान मैच फिक्सिंग अपने चरम पर था, लेकिन वह खुद को इसका शिकार बनने से रोकने में सफल रहे.

अख्तर ने कहा, 'उस समय पाकिस्तान क्रिकेट टीम के ड्रेसिग रूम का माहौल बहुत विचित्र होता था. मेरा विश्वास करें ड्रेसिंग रूम का उससे खराब माहौल नहीं हो सकता.' दुनिया के कुछ सबसे तेज गेंदबाजों में शुमार और 'रावलपिंडी एक्सप्रेस' के उपनाम से जाने जाने वाले अख्तर ने कहा कि उन्होंने हमेशा इन सबसे दूरी बनाए रखी और दूसरों को भी इससे बचते हुए गरिमा और गंभीरता से खेलने की सलाह देते रहे.

अख्तर ने दावा किया कि 2010 के दौरान उन्होंने मोहम्मद आमिर को भी ऐसे लोगों से मिलने-जुलने से बचने की सलाह दी थी, जो मैच फिक्सिंग के लिए खिलड़ियों को लालच दे सकते हैं. उल्लेखनीय है कि आमिर उसी वर्ष मैच फिक्सिंग के दोषी पाए गए थे जिसके चलते उन्हें पांच वर्षो का प्रतिबंध झेलना पड़ा. आमिर ने पिछले वर्ष दोबारा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर ली है. अख्तर ने यह भी कहा कि हाल ही में पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद और शाहिद अफरीदी के बीच पनपे विवाद को खत्म करने के लिए भी हस्तक्षेप किया था पाकिस्तान के दोनों पूर्व कप्तानों से बातचीत के जरिए विवाद खत्म करने के लिए कहा था.

अख्तर ने कहा, 'बातचीत के जरिए विवाद खत्म करना सबसे संभावित तरीका है. मैंने अफरीदी और जावेद भाई से मामला अदालत की बजाय आपस में सुलझाने के लिए कहा. अगर यह मामला अदालत में जाता तो बहुत से नाम घसीटे जाते.' उन्होंने आगे कहा, "मेरी सबसे बड़ी चिंता भी यही थी. मैंने अफरीदी को कानूनी नोटिस भेजने से मना किया और जावेद भाई को अपने गुस्से पर काबू रखने की सलाह दी और सार्वजनिक तौर पर कोई विवादित बयान देने से बचने के लिए कहा. उन्होंने अनुचित बातें कहकर हद पार कर दी थी.'

उल्लेखनीय है कि अफरीदी और मियांदाद के बीच यह विवाद मियांदाद द्वारा अफरीदी पर पैसों के लिए मैच फिक्स करने का आरोप लगाने के साथ शुरू हुआ. हालांकि हाल ही में मियांदाद ने सफाई देते हुए कहा था, 'गुस्से में कुछ बातें निकल गईं और मैंने भी कुछ अनुचित बातें कह दीं. मैं अपने बयान वापस लेता हूं.'

 

नई दिल्ली(13 अक्टूबर):सीडब्ल्यूई चैम्पियनशिप में द ग्रेट खली को उन महाबलियों को चित करने में गिने-चुने 5 मिनट का वक्त लगा, जो रिंग में खली की हड्‌डी तोड़ने की चुनौती देते फिर रहे थे। हालांकि कनाडा के पहलवान ब्रोडी स्टील, माइक नोक्स और रॉक टेरी ने पहले राउंड के विनर को पीटने के बाद भी खली को चुनौती दी थी।

- पानीपत के सेक्टर-13,17 के ग्राउंड में बुधवार को करीब 8 बजे सीडब्ल्यूई के मुकाबले शुरू हुए। पहले जहां महिला रेसलर्स के मुकाबले हुए, वहीं टैग टीम्स के मैच चल रहे थे।

- पहले ही राउंड में विजेता रहे एक भारतीय पहलवान को कनाडा के पहलवान ब्रोडी स्टील, माइक नोक्स और रोब्स ने पीट दिया। बाद में खली को चुनौती देते हुए कहा, 'रिंग में आओ हड्डियां तोड़ेंगे।'

- अंग्रेजी में भारतीय रेसलरों को दी गाली तो भीड़ ने की हूटिंग। इस पर विदेशी रेसलर भी गुस्साए। फिर बीच में कई बार आकर खली को चुनौती दे चुके हैं कि खली नहीं आया तो भीड़ को पीटेंगे। खली के आने का सबको इंतजार था।

- इसके बाद मैच शुरू होने से पहले खली ने तीनों को रिंग के बाहर पीटा, फिर तीनों ने खली को पीटा तो दर्शकों का रोमांच और फाइट की चुनौती बढ़ती जा रही थी।

- आखिरकार महाबली खली रिंग में उतरे तो ब्रोडी स्टील, माइक नोक्स और रॉक टेरी ने मिलकर खली को पकड़ लिया।

- खली ने पहले एक रेसलर के बाल पकड़े और फिर हाथ में कुर्सी उठाकर हड्‌डी तोड़ने की चेतावनी देने वाले तीनों रेसलर्स को 5 मिनट के अंदर चित कर प्रशंसकों को रोमांचित कर दिया।

 

 

नई दिल्ली(7 अक्टूबर): बीसीसीआई ने इंडियन क्रिकेट प्लेयर्स के टेस्ट मैच की फीस दोगुना कर दी है। अभी प्लेयर्स को एक टेस्ट के लिए 7 लाख रुपए मिलते हैं। बोर्ड ने इसे बढ़ाकर 15 लाख रुपए करने का फैसला किया है। तथ्यों के अधार पर देखा जाए तो सलाना कमाई के मामले में विराट कोहली बाज मार जाएंगे।

- जी हां, ए ग्रेड के खिलाड़ियों की बात करें तो महेंद्र सिंह धोनी ए ग्रेड के खिलाड़ी हैं। उनकी सलाना फीस एक करोड़ है, लेकिन टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के कारण ये सलाना फीस के मामले से तीसरे नंबर पर रह गए है। धोनी को 8 वनडे मैचों में 32 लाख रुपए कमाते हैं, वहीं 21 टी-20 मैचों में 42 लाख रुपए की कमाई की है। इस तरह बिना टेस्ट खेले धोनी की कुल कमाई 1.74 करोड़ रुपए की रही।

विराट कोहली
विराट कोहली ग्रेड ए के क्रिकेटर हैं। इनकी सलाना फीस एक करोड़ रुपए की है। इन्हें 4 मैचों के टैस्ट फीस के तौर पर 42 लाख, 5 वनडे मैचौं के लिए 20 लाख और 15 टी-20 मैचों के लिए 30 लाख मिले हैं। इस तरह सारी कमाई मिलाकर विराट की सलाना आमदनी 1.92 करोड़ रुपए की रही।

अश्विन
ग्रेड ए के खिलाड़ी अश्विन को भी एक करोड़ की सलाना फीस मिलती है। 6 टेस्ट मैचों की फीस में उन्होंने 42 लाख कमाए हैं, वहीं दो वनडे खेलने के लिए उन्हें 8 लाख रुपए मिले हैं। 17 टी-20 मैचों से मिली 34 लाख की कमाई को इसमें जोड़ दें तो अश्विन की कुल कमाई 1.84 करोड़ रुपए की हो जाती है। इस तथ्यों के आधार पर विराट नंबर बन गए और अश्विन दूसरे नंबर में आ गए है।

s

नई दिल्ली(4 अक्टूबर): न्यूजीलैंड को कोलकाता टेस्ट मुकाबले में करारी शिकस्त देने के बाद भारत फिर फिर से नंबर वन बन गया है। भारत ने पाकिस्तान से नंबर वन का ताज छीना है।

- कोलकाता मुकाबले में बल्लेबाजों की अपेक्षा गेंदबाजों का दबदबा रहा। कोलकाता टेस्ट में कप्तान कोहली ने भुवनेश्वर कुमार को मौका दिया था, जिसका भुवी ने भरपूर फायदा उठाया।

- भारत के 316 रनों के जबाव में न्यूजीलैंड अपनी पहली पारी में सभी विकेट खोकर 204 रन ही बना सकी। भुवनेश्वर कुमार ने सबसे अधिक 5 विकेट लिए, जबकि मोहम्मद शमी को 3, रवींद्र जडेजा और आर. अश्विन को एक-एक विकेट मिला।

- वहीं, मेहमान टीम के लिए जीतन पटेल ने सबसे अधिक 47, रॉस टेलर ने 36 और ल्यूक रोंची ने 35 रन की पारी खेली। भुवनेश्वर का यह अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है।

-भारत ने दूसरी पारी में 376 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी कीवी टीम की शुरुआत अच्छी रही लेकिन लंंच के बाद भारतीय गेंदबाजों ने जबरदस्त वापसी कर चौथे दिन ही टेस्ट अपने नाम कर दिया।


नई दिल्ली(3 अक्टूबर):कीरेन डिसूजा दुनिया की सबसे मुश्किल दौड़ को पूरा करने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। कीरेन ने 1 अक्टूबर को ग्रीस में ऐथेंस से स्पार्टा तक की 246 किलोमीटर की रेस पूरी की। स्पर्टेथलोन रेस के 34 साल के इतिहास में यह पहली बार हुआ जब फिनिश लाइन पर भारतीय झंडा लहराया। नागपुर के रहने वाले 23 साल के कीरेन ने इस रेस को खत्म करने में 33 घंटे एक मिनट और 38 सेकंड्स का समय लिया।

- कीरेन, रेस को खत्म करने वाले 234 प्रतिभागियों के बीच 86वें स्थान पर रहे। दौड़ के दौरान कीरेन ने एक रेकॉर्ड भी बनाया। उन्होंने 18 घंटे 37 मिनट में 159.5 किलोमीटर की दूर पर स्थित 47वें चेक पॉइंट पर पहुंच कर यह रेकॉर्ड बनाया। पोलैंड के अंद्रे राजिकॉस्की इस रेस में पहले स्थान पर रहे। स्पर्टेथलोन में कुल 370 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था।

नई दिल्ली(1 अकटूबर): सचिन तेंदुलकर के अलमारी से जुड़े रहस्य, नवजोत सिंह सिद्धू और अजय जडेजा की मैदान से बाहर की आदतों जैसे कई किस्से ईडन गार्डन्स पर टाक शो के दौरान पूर्व क्रिकेटरों ने बयां किए। पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने खुलासा किया कि तेंदुलकर जब खेला करते थे तो वह केवल बल्लेबाजी और खरीदारी करते थे।

- गांगुली ने कहा, ‘‘वह (तेंदुलकर) केवल बल्लेबाजी करता था या फिर खरीदारी। वह टेस्ट मैच में शतक बनाता और अगले दिन अरमानी या वरसाचे में खरीदारी करता। आप उन्हें अपने कपड़ों को आलमारी से हैंगर पर बेहद करीने से लटकाते हुए देख सकते थे। वह अपने कपड़ों को बहुत चाहते थे और उनकी आलमारी हमेशा भरी रहती थी। ’’

-वीवीएस लक्ष्मण के बारे में गांगुली ने कहा कि यह कलात्मक हैदराबादी बल्लेबाज हमेशा देर से पहुंचता था। गांगुली ने कहा, ‘‘अगर चौथे या पांचवें नंबर का बल्लेबाज भी क्रीज पर हो तब भी वह शावर ले रहा होता था। यहां तक कि टीम बस में सवार होने वाला वह आखिरी व्यक्ति होता था। ’’

- भारतीय क्रिकेट का चेहरा बदलने का श्रेय गांगुली को जाता है लेकिन इस पूर्व कप्तान ने अपने साथियों को हीरा करार दिया जिन्होंने उनकी टीम में अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा, ‘‘शीर्ष क्रम में वीरू (सहवाग) अपने बल्लेबाजी से कमाल करता था और जब गेंदबाजी का वक्त आता था तो हमें पता था कि हमारे पास एक एेसा गेंदबाज (कुंबले) है जो किसी भी तरह की पिच पर विकेट दिलाएगा। वह कहता था, आप लोग बड़ा स्कोर बनाआे और मैं आपके लिए टेस्ट मैच जीतूंगा। ’’

 

पाकिस्तान के स्टार ऑल-राउंडर और भारत में भी मशहूर शाहिद अफरीदी ने भारत के अटैक के बाद इस हमले पर बयान दे दिया है। शाहिद अफरीदी ने सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए लिखा, 'पाकिस्तान एक शांतिप्रिय मुल्क है, क्यों हम इतना बड़ा कदम उठाए जब मसलें बातचीत से भी हल किए जा सकते हैं। पाकिस्तान सभी मुल्कों के साथ मैत्रीपूर्ण रिश्ते चाहता हैशाहिद अफरीदी इतने पर ही नहीं रूके उन्होंने इसके बाद एक और ट्वीट कर कहा, 'जब 2 पड़ोसी आपस में लड़ते हैं तो दोनों घरों में नुकसान होता है।'

 

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम की ओपनर बल्लेबाज़ स्मृति मंधाना को वुमेन्स बिग बैश लीग के दूसरे सीज़न के लिए ब्रिसबेन्स हीट टीम ने साइन कर दिया है. मंगलवार को खुद टीम के फ्रेंचाइजी ने इस बारे में बताया डबल्यूबीबीएल की टीम में चुने जाने के साथ ही वह चुनी गयी दूसरी भारतीय खिलाड़ी भी बन गई हैं.

 

बिग बैश की टीम में चुने जाने के बाद स्मृति मंधाना ने कहा कि ‘अच्छा होता अगर एक से दो और भारतीय महिला खिलाड़ी भी बिग बैश लीग से जुड पाती. भारतीय महिला क्रिकेट को इससे बहुत फायदा होगा.’

नई दिल्ली (28 सितंबर):वर्ल्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) रेसलर दलीप सिंह राणा उर्फ ग्रेट खली ने अंडरटेकर सहित सभी विदेशी डब्ल्यूडब्ल्यूई रेसलरों को भारत में उनसे भिड़ने की चुनौती दी है।

खली ने चंडीगढ़ प्रेस क्लब में ‘मीट द प्रैस’ कार्यक्रम में बताया कि उनकी कम्पनी कंटीनेंटर रेसलिंग एंटरटेनमेंट(सीडब्ल्यूई) गुड़गांव और पानीपत में क्रमश: आठ और 12 अक्तूबर को डब्ल्यूडब्ल्यूई मुकाबले कराने जा रही है जिसमें इस खेल के अनेक नामी विदेशी रेसलर और उनकी पंजाब स्थित डब्ल्यूडब्ल्यूई अकादमी के पुरूष एवं महिला युवा रेसलर भिड़ेंगे।

Photos

एडिटर ओपेनियन

दावोस: PM मोदी ने CEOs के साथ की बैठक, भारत के विकास और बिजनेस के अवसरों की 10 बातें

दावोस: PM मोदी ...

नई दिल्ली॥ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंग...

एसबीआई ने कमाया 12.35% का शुद्ध लाभ

एसबीआई ने कमाया...

मुंबई॥ देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टे...

इंफोसिस को जबरदस्त मुनाफा, शेयर में तेजी!

इंफोसिस को जबरद...

मुंबई।। इंफोसिस लिमिटेड ने इस वित्त वर्ष...

नैनो का CNG मॉडल लॉन्च, कीमत 2.52 लाख

नैनो का CNG मॉड...

मुंबई।। टाटा ने नैनो का सीएनजी मॉडल लॉन्...

Video of the Day

Contact Us

About Us

Udyog Vihar Newspaper is one of the renowned media house in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers. ‘Udyog Vihar’ is founded by Mr. Satendra Singh.