You are here: Homeस्वास्थ्यमकड़ी के जाले से बनेगा कृत्रिम दिल

मकड़ी के जाले से बनेगा कृत्रिम दिल

Written by  Published in Health Wednesday, 23 August 2017 05:59
Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली (23 अगस्त): अब वर्तमान समय में दिनोंदिन नयी नई टेक्नोलॉजी आ रही है अभी वर्तमान समय में एक टेक्नोलॉजी स्वास्थ्य को लेकर आई है। शोधकर्ताओं ने मकड़ी के जाले से दिल की मांसपेशीय टिशू बनाए हैं। इन टिशू का निर्माण यह जांच करने के लिए किया गया है कि 'कृत्रिम रेशम प्रोटीन' हृदय के टिशू के निर्माण के लिए उपयुक्त हो सकते है या नहीं। इस्केमिक बीमारियों- जैसे कार्डियक इन्फ्रेक्शन से हृदय की मांसपेशीय कोशिकाओं की स्थायी हानि का कारण बनती है। इसकी वजह से

दिल की कार्यक्षमता कम हो जाती है, जिसका दिल के कार्य पर असर पड़ता है। वहीँ जर्मनी के इरलगेन-नर्नबर्ग (एफएयू) स्थित फ्रेडरिक एलेक्जेंडर विश्वविद्यालय के शोधकतार्ओं के अनुसार, रेशम कृत्रिम दिल के टिशू बनाने में कारगर हो सकता है। रेशम की संरचना व यांत्रिक स्थिरता देने का कार्य फाइब्रोनिन प्रोटीन करता है। शोधकर्ताओं के अनुसार यह टेक्नोलॉजी’ बहुत कारगार साबित होगी जो की दिल के मरीजों के लिए काफी मदगार साबित होगी

 

Read 286 times

Contact Us

About Us

Udyog Vihar Newspaper is one of the renowned media house in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers. ‘Udyog Vihar’ is founded by Mr. Satendra Singh.